लाउड स्पीकर से अजान पर गायिका अनुराधा पौडवाल ने उ’गला ज’हर, कहा- मु’स्लिम देशों में भी है रोक, लोग बोले- मुस्लिम देशों में तो मु’स्लिम का’नून भी है क्या यहां लागू करेगी स’र’का’र

मशहूर गायिका अनुराधा पौडवाल ने अ,जान के लिए लाउड,स्पीकरों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की है। हजारों गानों को आवाज दे चुकीं अनुराधा पौडवाल ने कहा कि इसकी जरूरत नहीं है।महाराष्ट्र और मुंबई में म,स्जिदों पर लगे लाउडस्पीकरों की आवाज को लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना जैसे दलों ने आ,पत्ति जताई और इसे लेकर बहस तेज है। इस बीच मशहूर गायिका अनुराधा पौडवाल ने अ,जान के लिए लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर रोक लगाने की मांग की है।

अनुराधा पौडवाल की लाउड स्पीकर बैन की बात सुनकर लोग बोले बेहद दुख की बात है, जो गायिका खुद अपना गला फा’ड़ फा’ड़ कर लाउड स्पीकर पर क,रियर बनाई है वो ऐसी बात कर रही है। लाउड स्पीकर पर मुश्किल से 2,5 या 6 मिनट अजान होता है, इससे ज्यादा शोर तो किसी जुलूस या शादी समारोह में हो जाता है, किसी नेता की रैली या भाषण में हो जाता है, तब इनलोगों को तकलीफ नहीं होती, इन लोगों को तकलीफ सिर्फ म,स्जिद के लाउड स्पीकर से है जो इनका विशेष वर्ग से एलर्जी माइंड सेट दिखाता है।

अनुराधा ने कहा लाउडस्पीकर से अ,जान पर लगे बैन; कहा- मुस्लिम देशों में भी है रोक: इस बात पर लोगों ने अनुराधा को आड़े हाथों लिया और कहा ,स्लिम देशों में भी है रोक, लोग बोले- मुस्लिम देशों में मुस्लिम का’नून है क्या यहां लागू करेगी स’रकार!
लोग बोले भद्दे गाने, जुलूस, रैली , भाषण सब लाउड स्पीकर पर बजते है कोई रोक नहीं बस इनलोगो को एक वर्ग को टा,र,गेट करना है। कुछ ने तो यहां तक कहा की अजान से शै,तान को दिक्कत होती है 😂

हजारों सुरीले गीतों को आवाज दे चुकीं अनुराधा पौडवाल ने कहा कि भारत में इस तरह से अ,जान दिए जाने की जरूरत नहीं है। जी न्यूज से बातचीत में अनुराधा पौडवाल ने कहा, ‘मैं दुनिया में बहुत सी जगहों पर गई हूं। मैंने ऐसा कहीं भी नहीं देखा है, जैसा कि भारत में होता है। मैं किसी भी मजहब के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन भारत में इसे प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके चलते अन्य समुदाय यह सवाल उठाते हैं कि यदि वे लाउडस्पीकर का इस्तेमाल कर सकते हैं तो फिर हम क्यों नहीं।’ इस पर लोग बोले किस दुनिया हो मैडम आप! क्या कोई और समुदाय लाउड स्पीकर इस्तेमाल नही करते? जागरण में भ,जन की,र्तन क्या लोगों के कान में फुसफुसा कर करते है?लोग बोले सकारात्मक सोचिए न,फ,रत से कुछ हासिल नहीं होता।

वैसे यह पहला मौका नहीं है, जब किसी सिलेब्रिटी ने लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल को लेकर आपत्ति जाहिर की है। अनुराधा पौडवाल से पहले 2017 में गायक सोनू निगम भी इस पर बयान दे चुके हैं। हालांकि अपने ट्वीट को लेकर सोनू निगम को ट्रो”ल होना पड़ा था और आखिर में उन्होंने अपना ट्वीट ही डिलीट कर लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.