दूसरी बार दूल्हा बने मुख्यमंत्री भगवंत मान, रचाई दूसरी शादी दुल्हन बनी गुरप्रीत, CM हाऊस में हुए सात फेरे, देखें शादी की फोटो

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान आज चंडीगढ़ स्थित अपने आवास पर एक सादे समारोह में विवाह बंधन में बंध गए। 48 वर्षीय भगवंत मान ने डॉक्टर गुरप्रीत कौर से शादी की।पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान गुरुवार को शादी के बंधन में बंध गए. चंडीगढ़ के सरकारी आवास में सीएम मान और डॉक्टर गुरप्रीत कौर की शादी समपन्न हो गई. इसी के साथ शादी की पहली तस्वीर सामने आ गई है. जहां मुख्यमंत्री भगवंत मान गोल्डन कलर के कुर्ता-पजामा और जवाहर कट में नजर आ रहे हैं, वहीं उनकी पत्नी गुरप्रीत कौर लाल कलर को दुल्हन जोड़े में दिखाई दे रही हैं.

मुख्यमंत्री के आवास पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।
गुरप्रीत कौर (30) ने ट्विटर पर अपनी एक तस्वीर साझा की और लिखा, ‘‘ दिन शगना दा चढ़ेया …(शादी का दिन आ गया है)।’’ उन्होंने आम आदमी पार्टी (आप) के नेताओं का बधाई संदेशों के लिए शुक्रिया भी अदा किया।

पार्टी के अनुसार, मान की मां और बहन सहित परिवार के सदस्य तथा कुछ ही मेहमान विवाह में शामिल होंगे। यह विवाह सिख रीति-रिवाजों से संपन्न हुआ।

आप सांसद राघव चड्ढा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मुख्यमंत्री भगवंत मान के जीवन का एक नया अध्याय आज से शुरू होने जा रहा है। मैं मान साहब के परिवार, उनकी मां और बहन को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। यह एक छोटा कार्यक्रम होगा। केवल परिवार के सदस्य इसमें शिरकत करेंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हम खुश हैं कि काफी समय बाद मान साहब के परिवार में खुशियां लौटी हैं। एक बार फिर उनका परिवार बसते देखना, उनकी मां का सपना था। आज, वह सपना पूरा होने जा रहा है।’’

गुरप्रीत कौर ने 2018 में हरियाणा के एक निजी विश्वविद्यालय से एमीबीबीएस की पढ़ाई पूरी की थी। उनकी दो बड़ी बहनें हैं, जो विदेश में रहती हैं।

परिवार सहित केजरिवाल शामिल हुए:बता दें कि भगवंत मान आज चंडीगढ़ में अपने सरकारी आवास पर एक निजी समारोह में डॉ गुरप्रीत कौर से शादी कर रहे हैं. वहीं मान का अपनी पहली पत्नी से करीब छह साल पहले तलाक हो गया था. शादी समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनका परिवार शामिल हुआ. मान की पूर्व पत्नी इंद्रप्रीत कौर और उनके बच्चे यूएसए में रह रहे हैं.

मंत्री और वरिष्ठ नेता को नहीं बुलाया गया:मुख्यमंत्री मान की शादी में आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पार्टी के राज्यसभा सांसद राघव चढ्ढा और संजय सिंह शरीक हुए. साथ ही शादी में ज्यादा मेहमानों को बुलाने से बचा गया है. यही वजह है कि पार्टी के किसी मंत्री और वरिष्ठ नेता को नहीं बुलाया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.