VIDEO: हिजाब के समर्थन में उतरी मिस यूनिवर्स हरनाज कौर संधू, कह डाली ये बड़ी बात_देखिए

#HarnaazSandhu और #hijabcontroversy पिछले 24 घंटे से सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग टॉपिक है। एक कार्यक्रम में मिस यूनिवर्स हरनाज संधू ने हिजाब पर लड़कियों के ‘उड़ने’ की बात क्या कर दी, पक्ष और विपक्ष में तर्क की भरमार हो गई। कुछ लोग खुलकर सपोर्ट कर रहे हैं तो कुछ आलोचना भी करने लगे हैं।

कर्नाटक की छात्राओं के स्कूल में हिजाब (Hijab News) पहनने के मामले में कोर्ट का फैसला भले ही आ गया है, पर डिबेट अभी थमी नहीं है। मिस यूनिवर्स हरनाज कौर संधू (Harnaaz Kaur Sandhu) एक कार्यक्रम के सिलसिले में मुंबई में थीं और उनसे भी हिजाब पर सवाल पूछ लिया गया। हरनाज ने खुद सवाल करते हुए कहा कि हमेशा लड़की को ही टारगेट क्यों किया जाता है? हिजाब की बात पर लड़की को टारगेट किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘उसको जीने दो, जिस ढंग से वह जीना चाहती है। उसको अपने मुकाम तक पहुंचने दो, उड़ने दो, वो उसके पर हैं, आप मत का,टो…. का,टने हैं तो अपने आप के का,टो।’ #Hijabrow पर जैसे ही हरनाज का वीडियो सोशल मीडिया पर आया लोगों के रिएक्शंस आने लगे।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई एक क्लिप में एक रिपोर्टर ने संधू से हिजाब के मुद्दे पर उनके विचार पूछे। चंडीगढ़ की रहने वाली मॉडल ने तब इस सवाल पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि समाज में कितनी बार लड़कियों को नि,शाना बनाया जाता है। हरनाज ने कहा- सच कहूं तो आप हमेशा लड़कियों को ही क्यों निशाना बनाते हो ? अब भी आप मुझे नि,शाना बना रहे हो जैसे, हिजाब के मुद्दे पर लड़कियों को नि,शाना बनाया जा रहा है। संधू ने कहा लड़कियों को अपनी मर्जी से जीने दो, उन्हें उनकी मंजिल तक पहुंचने दो, ये उसके पंख हैं, उन्हें मत का,टो।

गौरतलब है कि कर्नाटक उच्च न्यायालय ने कक्षाओं में हिजाब पहनने पर प्रतिबंध का समर्थन करते हुए कहा था कि हिजाब एक आवश्यक धार्मिक प्रथा नहीं है। बीते गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर तत्काल सुनवाई करने से इनकार कर दिया।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई एक क्लिप में एक रिपोर्टर ने संधू से हिजाब के मुद्दे पर उनके विचार पूछे। चंडीगढ़ की रहने वाली मॉडल ने तब इस सवाल पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि समाज में कितनी बार लड़कियों को निशाना बनाया जाता है। हरनाज ने कहा- सच कहूं तो आप हमेशा लड़कियों को ही क्यों निशाना बनाते हो ? अब भी आप मुझे निशाना बना रहे हो जैसे, हिजाब के मुद्दे पर लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है। संधू ने कहा लड़कियों को अपनी मर्जी से जीने दो, उन्हें उनकी मंजिल तक पहुंचने दो, ये उसके पंख हैं, उन्हें मत का,टो।

यूनिफॉर्म पता नहीं है…एक यूजर ने लिखा, ‘हरनाज कौर, स्कूल के बाहर हिजाब पहनने से कोई नहीं रोक रहा है लेकिन कोई स्कूल के भीतर हिजाब नहीं पहन सकता…. क्या आपको यूनिफॉर्म का कॉन्सेप्ट पता नहीं है?’ एक अन्य यूजर ने कहा, ‘यूनिफॉर्म भूल जाइए, उनसे कहिए कि कोर्ट का फैसला पढ़िए। हिजाब प्रतिबंधित नहीं है। लेकिन स्कूल के पास यूनिफॉर्म पर फैसला करने का अधिकार है। अगर किसी को पसंद नहीं तो स्कूल बदल दीजिए।’ कुछ लोगों ने हरनाज का बॉयकॉट करने की भी बात की है।

हालांकि मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हरनाज के बयान की प्रशंसा की है। एक अन्य यूजर ने कहा कि वह हरनाज के साहस की प्रशंसा करते हैं कि वह हमेशा ‘सच और सही’ के साथ रहती हैं। Sudhakar Chopra लिखते हैं, ‘दरअसल, मॉडरेटर राजनीतिक सवाल को रोकना चाहता था और रिपोर्टर हरनाज से जवाब चाहता था। ऐसे में हरनाज ने जब बोलना शुरू किया तो उन्होंने कहा कि आप हमेशा लड़कियों को टारगेट क्यों करते हैं। यहां भी आप मुझे टारगेट कर रहे हैं। ऐसा लगता है कि उन्हें मसले की जानकारी नहीं थी।’

आलम नाम के यूजर ने ट्विटर पर लिखा, ‘अगर मुस्लिम लड़कियां संविधान का उल्लंघन किए बिना अपने धार्मिक दायरे में रहकर पढ़ना चाहती हैं, उड़ना चाहती हैं, तो ये …. क्यों आपत्ति हो रही।’ कुछ लोगों ने हिजाब पहनी कर्नाटक की उन लड़कियों की तस्वीरें शेयर की हैं जिन्होंने मेडल जीते हैं। ऐसी ही एक इंजीनियरिंग स्टूडेंट #BushraMatin की तस्वीर शेयर की गई है जो मेडल लिए दिखती हैं।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने भी की सिख पगड़ी की बात
देश के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एस वाई कुरैशी ने हिजाब विवाद पर कहा है कि कॉलेज में जब यूनिफॉर्म होता ही नहीं तो फिर हिजाब को बैन करने की क्या जरूरत है। उन्होंने कहा कि यूनिफॉर्म स्कूलों में होता है। उन्होंने तर्क रखा कि स्कूल में सिखों की पगड़ी पर कोई प्रतिबंध नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि हिंदू महिलाओं को सिंदूर लगाने की इजाजता मिली हुई है तो फिर हिजाब को लेकर विवाद का कोई मतलब नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.