इजरायल के रेगिस्तान में हो रही थी खुदाई, मिली 1200 साल पुरानी ‘मस्जिद’

इजरायल के आर्कियोलॉजिस्ट ने खुदाई में कई साल पुरानी मस्जिद मिलने का दावा किया है. इजरायल पुरावशेष प्राधिकरण (आईएए) ने बयान जारी कर कहा कि ऐसा माना जा रहा है कि खुदाई में मिले मस्जिद के ये अवशेष 1,200 साल से भी अधिक पुराने हैं. यह मस्जिद इजरायल के रहात शहर के बिदुएन में खुदाई के दौरान मिली. मस्जिद के अवशेष नेगेव रेगिस्तान में है, जिसमें एक आयताकार कमरा है और इसकी दीवार मक्का की तरफ है.

आईएए ने कहा, इस इन अवशेषों की बेजोड़ वास्तुकला से पता चलता है कि यह इमारत मस्जिद रही होगी. आईएए ने कहा, मस्जिद की थोड़ी ही दूरी पर खुदाई में एक आलीशान इमारत भी मिली है. इस इमारत की कलाकृतियों के अवशेषों से पता चलता है कि यहां धन संपन्न लोग रहा करते थे. बता दें कि आईएए को तीन साल पहले पास के ही क्षेत्र से खुदाई में एक और मस्जिद मिली थी, जो सातवीं या आठवीं शताब्दी की थी. इन्हें दुनियाभर की सबसे प्राचीन मस्जिदें बताया गया है.

आईएए ने कहा, खुदाई में मिली मस्जिदों, इमारत और अन्य घरों से उत्तरी नेगेव में एक नए धर्म के आगमन का भी पता चलता है. इसके जरिये क्षेत्र में ईसाई से इस्लाम धर्म तक के सफर की ऐतिहासिक प्रक्रिया से पर्दा हटता है.

उन्होंने कहा, ई,सा,ई से इ,स्ला,म ध,र्म के प्रभुत्व की यह प्रक्रिया धीरे-धीरे स्थापित हुईं. इससे पहले यहां बैजंटाइन सरकार और ई,सा,ई ध,र्म अस्तित्व में था, जिसका सैंकड़ों सालों तक यहां के लोगों ने पालन किया. इसके बाद सातवीं शताब्दी की शुरुआत में यहां मु,स्लिमों का आगमन हुआ. इस तरह से इस्लाम धर्म का यहां प्र,सा,र हुआ. आईएए का कहना है कि रहात में खुदाई में मिली मस्जिदों को उनके मौजूदा स्थानों पर ही संरक्षित रखा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.