कि’न्नरों  ने दिया हिंदू-मुस्लिम एकता का संदेश, एक ही मंडप में कराई 10 गरीब बेटियों की शादी

कहते हैं अपने लिए तो सभी जीते हैं लेकिन जो दूसरों के लिए जीए वही जिंदगी है. किन्नरों की एक अनूठी पहल ने सभी को हैरान कर दिया है. किन्नरों ने ना केवल हिन्दू मुस्लिम एकता बल्कि सभी जा,ति, ध,र्मों में भाईचारे और आपसी प्रेम को बढ़ावा देने का काम किया है. राजस्थान के भरतपुर में कि,न्नरों ने गरीब बेटियों की शादी करवाने का बीड़ा उठाया है. शादी में बेटियों को दुल्हन के तौर पर सोने के गहने, पारिवारिक जिंदगी में काम आनेवाले सामान दिए जाते हैं. गरीब बेटियों की शादी का सिलसिला पिछले 10 वर्षों से लगातार जारी है.

किन्नर नीतू मौसी ने करवाई 10 गरीब बच्चियों की शादी
किन्नर नीतू मौसी ने आज एक ही मंडप में हिन्दू और मुस्लिम 10 गरीब बेटियों की एक साथ शादी करवाई. कुल दस बेटियों में 5 हिन्दू और 5 मुस्लिम ध,र्म की हैं. शादी के मौके पर हजारों की संख्या में बाराती और घराती पहुंचे. उनके लिए दावत का शानदार इंतजाम भी था. किन्नर नीतू मौसी ने बताया कि शादी के लिए पूरा सामान भी दिया है. बाराती और घरातियों के लिए अच्छी दावत का इंतजाम भी किया है. शादी समारोह में लाखों रुपये खर्च आता है लेकिन नीतू मौसी बहन किसी से कुछ भी सहायता नहीं लेती.

उन्होंने कहा की घर घर से साल भर तक होनेवाली कि,न्नरों की कमाई को उसी साल के अंत में गरीब बेटियों की शादी कराकर खर्च कर दिया जाता है. एक ही मंडप में हिन्दू-मुस्लिम बेटियों की शादी को उन्होंने गंगा यमुना तहजीब की तरह एकता और प्रेम की मिसाल बताया. किन्नर नीतू मौसी को शहरवासियों ने नगर निगम पार्षद का चुनाव भी ल,ड़ाया था. भाजपा ने उनको टिकट भी दे दिया था. नीतू नगर निगम के वार्ड 29 से पार्षद रह चुकी हैं. शहर में कि,न्नरों की नीतू मौसी अध्यक्ष भी हैं जो सभी किन्नरों को अपने बच्चों की तरह एक ही परिवार मानकर ध्यान रखती हैं.

उनका कहना है की भ,ग,वान ने हमारा जीवन तो कुछ अलग तरह का नसीब किया मगर हम इस जीवन को सार्थक करने के लिए अच्छे कार्य कर सकें और गरीब बेटियों का हाथ पीले कराना सौभाग्य की बात है. ये कि,न्नर साल भर बच्चे के जन्म पर घर घर जाकर गाना गाते हैं, झूमते हैं और खुशी मनाते हैं. लोगों से मिलनेवाले रु,पये को इकठ्ठा करते हैं और फिर हर नवंबर को गरीब बेटियों की शादी पर सभी कमाए गए रु,पये को खर्च कर देते हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.