जब माधुरी दीक्षित को दुबले पन होने का मिला था ताना, तब माधुरी ने किया ऐसा कि लोगों के मुँह हो गए बंद…

हर न्यू कमर की तरह बॉलीवुड एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित ने भी अपने करियर के शुरुआती दिनों में क्रिटिसिज्म को झेला है. एक बातचीत में माधुरी ने खुलासा किया कि कैसे लोग उन्हें ताने दिया करते थे कि, ये बहुत पतली है, इसे मोटा करो. लेकिन अब चीजें और माहौल बहुत बदल गया है. बॉलीवुड में अब तरह के लोगों के लिए जगह है।

बॉलीवुड और ग्लैमर की दुनिया में बॉडी शेम का शिकार होना आम बात है. अकसर ही पतले को मोटा और मोटे को पतला होने की सलाह दी जाती रही है. हाल ही में माधुरी दीक्षित ने भी अपने करियर के शुरुआती दिनों के एक्सपीरियंस को शेयर किया, कैसे उन्हें क्रिटिसाइज किया जाता था।

कम वजन के चलते हुईं हीन भावना का शिकार बॉलीवुड की धक-धक गर्ल माधुरी दीक्षित कुछ दिन पहले ही 55 साल की हुई हैं, लेकिन उनकी फिटनेस को देखकर इस बात का अंदाजा मुश्किल है. उन्होंने खुद को इतना मेनटेन किया है कि आज भी उनकी हुस्न की हर जगह तारीफ होती है।

लेकिन ये तब नहीं था जब उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी. माधुरी ने साल 1984 में आई फिल्म अबोध से अपने करियर की शुरुआत की थी. तब उनकी उम्र 16-17 साल रही होगी. माधुरी काफी पतली थीं. जिस वजह से उन्हें इंडस्ट्री के लोगों से ही आलोचना का शिकार होना पड़ता था. लोग उन्हें मोटा करने की सलाह देते थे।

माधुरी ने बदलते दौर में खुद को ढाला माधुरी कहती हैं कि आज डिमांड बदल गई है. आज लोगों को स्लिम ट्रिम लड़कियां ही चाहिए होती हैं. उन्होंने कहा कि, ‘नए-नए प्रयोग करते रहने चाहिए, ये मैटर नहीं करता कि आपको सफलता मिलेगी या नहीं’।

वैसे लोग चाहे जो कहें, माधुरी दीक्षित किसी के ताने से रुकी नहीं, समय के साथ और बेहतर हुईं और तेजाब, खलनायक, साजन, राम लखन जैसी हिट फिल्में दीं. आने वाले प्रोजेक्ट्स की बात करें तो माधुरी दीक्षित ‘मजा मां’ में नजर आएंगी. वहीं हाल ही में माधुरी नेटफ्लिक्स की सीरीज फेम गेम में संजय कपूर के साथ दिखाई दी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.