सना खान का मुफ़्ती संग कराया निकाह, भागवत से है मुलाकात, जानें कौन हैं इ’स्ला’मिक विद्वान मौलाना कलीम सिद्दीकी

समाज में मौलाना कलीम सिद्दकी चर्चा में हैं।  मतांतरण (ध’र्मां’त’र’ण) कराने के मामले में उत्तर प्रदेश यूपी एटीएस ने मेरठ से मौलाना कलीम सिद्दीकी को गि’र’फ्ता’र किया है। इस्लामिक विद्वान मौलाना कलीम सिद्दीकी पूर्व बालीवुड अभिनेत्री सना खान का निकाह कराने को लेकर चर्चा में आए थे। इसके बाद सना खान ने अपना फिल्मी करियर छोड़कर एक मौ”ला”ना से निकाह करने के बाद इ’स्ला’मिक परंपरा से जीवन व्यतीत करने का फैसला किया। अब मतांतरण के मामले में मौलाना सिद्दीकी से पूछताछ के बाद चौंकाने वाले राजफाश हुए हैं।

मतांतरण मामले में यूपी एटीएस ने मुजफ्फरनगर निवासी मौलाना कलीम सिद्दीकी को गि’रफ्ता’र किया है। मौलाना पर अनगिनत मतांतरण के आरोप लगे हैं। एटीएस की टीम लंबे समय से उस पर नजर बनाए हुए थी। मंगलवार देर रात एटीएस की टीम ने मेरठ से एक कार्यक्रम से लौटते हुए उसे गि’रफ्ता’र कर लिया। एटीएस ने मौलाना व उसके तीन साथियों से रात भर पूछताछ की जिसके बाद बुधवार को इस मामले में बड़े किए हैं।

मौलाना कलीम सिद्दीकी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इस्लामिक विद्वानों में एक बड़ा नाम हैं। वह मुजफ्फरनगर के फुलत के रहने वाले हैं। फुलत के अलावा कई जगहों पर उनके नाम पर मदरसे चलते हैं। मौलाना की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें देश के साथ ही विदेश से भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए न्योते आते हैं। मौलाना सिद्दीकी इस महीने सात सितंबर को मुंबई में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के की तरफ से आयोजित राष्ट्र प्रथम और राष्ट्र सर्वोपरि कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे। एडीजी ला एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने गुरुवार को लखनऊ में बताया कि मौलाना के खिलाफ अ’वैध मतांतरण में लिप्त होने का पता चला है।

सं’दि’ग्ध गतिविधियों के चलते इ’स्लामिक विद्वान मौलाना कलीम सिद्दीकी सु’र’क्षा ए’जेंसी के निशाने पर थे। सात सितंबर को मुंबई में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के द्वारा आयोजित राष्ट्र प्रथम और राष्ट्र सर्वोपरि कार्यक्रम में भी मौलाना कलीम शामिल हुए थे। चर्चा यह भी है कि पूर्व बालीवुड अभिनेत्री सना खान का निकाह भी मौलाना कलीम सिद्दीकी ने ही कराया था। सना खान ने अपने फिल्मी खान छोड़कर एक मौलाना से निकाह करने के बाद इ’स्ला’मिक कल्चर से जीवन व्यतीत करने का फैसला किया था, जो काफी चर्चा का विषय बना था।

कई जगहों पर मौलाना के नाम पर मदरसे चलते हैं:-मौलाना कलीम सिद्दीकी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक बड़ा नाम हैं। वे मुजफ्फर नगर के फुलत के रहने वाले हैं। फुलत के अलावा कई जगहों पर उनके नाम पर मदरसे चलते हैं। मौलाना की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें देश के साथ ही विदेशों से भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए न्योते आते हैं।

उमर गौतम मामले की जांच के दौरान आया नाम:-मौलान कलीम सिद्दीकी का नाम उमर गौतम मामले की जांच के दौरान सामने आया था। यूपी एटीएस ने ध”र्मां”त”र”ण के आरोप में इस साल जून में दो मौलानाओं मोहम्मद उमर गौतम और मुफ्ती काजी जहांगीर कासमी को गि”र”फ्ता”र किया था। पु”लि”स का कहना था कि ये लोग कथित रूप से परिवर्तन चला रहे थे। उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने खुद इस बात की पुष्टि की थी कि गौतम ध”र्म बदलकर मु”स्लि”म बना था। मोहम्मद उमर गौतम मूल रूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के रहने वाला है।

गि”रफ्ता”री को बताया मुसलमानों पर अ”त्या”चा”र:-ओखला से आम आदमी पार्टी के वि”धा”यक अमानतुल्ला खान ने मौलाना की गि”रफ्ता”री को ‘मु”सल”मा”नों पर अ”त्या”चा”र’ बताया है। अमानतु्ला खान ने ट्वीट कर कहा कि मौलाना कलीम सिद्दीकी, एक प्रसिद्ध इ’स्लामी विद्वान को उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले गि”रफ्ता”र किया गया है। मुस”लमा”नों पर अ”त्या”चा”र बढ़ते जा रहे हैं। इन मुद्दों पर धर्मनिरपेक्ष दलों की चुप्पी मजबूती दे रही है। उन्होंने आगे लिखा चु”ना”व जीतने के लिए कितना गिरोगे?

मोहन भागवत के कार्यक्रम में हुए थे शामिल:-मौलाना कलीम सिद्दीकी इस महीने 7 सितंबर को मुंबई में आ”र”ए”स”ए”स प्रमुख मोहन भागवत के की तरफ से आयोजित राष्ट्र प्रथम और राष्ट्र सर्वोपरि कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे। फुलत के मौलाना कलीम सिद्दीकी का इ”स्ला”मिक विद्वानों में बड़ा नाम है। कलीम सिद्दीकी फुलत के मदरसा जामिया इमाम वलीउल्लाह इस्लामिया के निदेशक भी हैं।

मोहन भागवत और मौलाना कलीम सिद्दकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.