भारत के लिए गोल्ड जितने के बाद गिले-शिकवे भुला मैरीकॉम से मिलने पहुंची निकहत ज़रीन, कहा – ‘इनके बिना जीत अधूरी’

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप (World Boxing Championship) में गोल्ड जीतकर इतिहास रचने वाली भारतीय स्टार निकहत जरीन ने लीजेंड एमसी मेरीकॉम से मुलाकात की है. इस मुलाकात के साथ ही दोनों ने एक-दूसरे से गिले-शिकवे भुला दिए हैं.

निकहत ने इसका एक फोटो भी सोशल मीडिया पर शेयर किया है. उन्होंने कैप्शन में लिखा, ‘कोई भी जीत आपके आशीर्वाद के बगैर अधूरी ही है.’ निकहत इस फोटो में गोल्ड मेडल दिखाती हुई मेरीकॉम के साथ खड़ी दिख रही हैं. इस दौरान मेरीकॉम ने भी मुस्कुराते हुए विक्ट्री का साइन दिखाया है.

निकहत की मेरीकॉम से मुलाकात पर पिता ने क्या कहा?:इस मामले में ‘आजतक’ ने निकहत के पिता मोहम्मद जमील से बात की. उन्होंने कहा, ‘देखिए ऐसा है कि मेरीकॉम हमारी लीजेंड हैं. गिले-शिकवे कुछ नहीं हैं. सब भुलाने पड़ते हैं. मेरीकॉम हमारी आदर्श हैं. उनसे मिलना और आशीर्वाद लेना भी जरूरी है. छोटी-मोटी कुछ गलतफहमियां होती हैं, वो दूर भी हो जाती हैं.’

टोक्यो ओलंपिक के ट्रायल में भिड़े थे निकहत-मेरीकॉम:25 साल की निकहत ने 13 साल की उम्र में ही बाक्सिंग ग्लव्स थाम लिए थे. निकहत की लीजेंड एमसी मैरीकाम से कई बार भि,ड़ं,त भी हुई है.

सबसे बड़ा मामला टोक्यो ओलंपिक के ट्रायल को :लेकर हुआ था. दरअसल, भारतीय बॉक्सिंग फेडरेशन ने मेरीकॉम को टोक्यो ओलंपिक में बगैर ट्रायल के 51 kg कैटेगरी के लिए सेलेक्ट किया था. तब के चेयरमैन राजेश भंडारी ने कहा था कि निकहत को भविष्य के लिए सेव कर रहे हैं.

मेरीकॉम ने ट्रायल में जीत के बाद हाथ तक नहीं मिलाया था:ऐसे में निकहत ने इसके खिलाफ आवाज उठाते हुए खेल मंत्री किरण रिजिजू को पत्र लिखा था. इस पूरे विवाद के बाद मेरीकॉम का ट्रायल हुआ था. उनका मुकाबला निकहत से कराया गया, जिसमें मेरीकॉम ने जीत दर्ज की थी. इन दोनों बॉक्सर के बीच टशन इतना था कि जीत के बाद मेरीकॉम ने निकहत से हाथ भी नहीं मिलाया था. जब निकहत ने टोक्यो ओलंपिक के लिए ट्रायल की मांग की थी, तब मेरीकॉम ने प्रेस के सामने पूछा था, ‘निकहत जरीन कौन है?’

वर्ल्ड चैम्पियन बनने के साथ ही मेरीकॉम ने ट्वीट कर निकहत को बधाई भी दी थी. उन्होंने लिखा था- गोल्ड मेडल जीतने के लिए निकहत को बधाई. आपकी ऐतिहासिक जीत पर काफी गर्व है. आपको आपके भविष्य के लिए भी शुभकामनाएं.

निकहत वर्ल्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली 5वीं भारतीय महिला:निकहत जरीन ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप के फाइनल में थाईलैंड की जिटपॉन्ग जुटामस (Jitpong Jutamas) को 5-0 से करारी शिकस्त दी थी. यह मुकाबला 52 किग्रा. वेट कैटेगरी के तहत हुआ था.

25 साल की निकहत जरीन 5वीं भारतीय महिला बॉक्सर हैं, जिन्होंने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल अपने नाम किया है. बॉक्सिंग लीजेंड मेरीकॉम ने इस चैम्पियनशिप में 6 बार गोल्ड जीतकर रिकॉर्ड बनाया है. इस चैम्पियनशिप में मेरीकॉम, निकहत के अलावा सरिता देवी, जेनी आरएल और लेखा सी.भी गोल्ड जीत चुकी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.