शमी को ट्रो’ल करने पर भ’ड़’के औवेसी, कहा- निशाने पर सिर्फ मुस्लिम पर ही क्यों? जबकी टीम में 11 खिलाड़ी

पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया को 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मिली पहली हार के बाद सोशल मीडिया पर मोहम्मद शमी को निशाना बनाया जा रहा है।

शमी के खिलाफ कई तरह के अपमानजनक कमेंट किए गए और उनको पाकिस्तानी तक बताया गया है। इस पर टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के बाद अब असदुद्दीन ओवैसी भ’ड़’क गए हैं। उनका कहना है कि टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं तो नि’शाना सिर्फ मुस्लिम पर ही क्यों?

टी-20 विश्व कप 2021 में पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया को 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। बल्लेबाजों के साथ टीम के गेंदबाजों का प्रदर्शन भी बेहद निराशाजनक रहा। वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मिली पहली हार के बाद सोशल मीडिया पर मोहम्मद शमी को निशाना बनाया जा रहा है। शमी के खिलाफ कई तरह के अपमानजनक कमेंट किए गए और उनको पाकिस्तानी तक बताया गया है।

AIMIM प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी इंडियन क्रिकेटर मोहम्‍मद शमी के बचाव में आए हैं। ओवैसी ने कहा है कि मैच के बाद शमी को सोशल मीडिया पर नि’शाना बनाया जा रहा है। इससे मुसलमानों के खि’लाफ न’फ’र’त झलकती है।

ओवैसी ने एक ट्वीट के जरिए कहा, ”मोहम्‍मद शमी को कल के मैच के लिए सोशल मीडिया के जरिए निशाने पर लिया जा रहा है। इससे क’ट्ट’रता और मुसलमानों के खिलाफ न’फ’रत झलकती है। किक्रेट में हार जीत तो होती रहती है। टीम में 11 प्‍लेयर हैं लेकिन केवल एक मुस्लिम प्‍लेयर को टा’र’गे’ट किया गया है। क्‍या इसकी निंदा करेगी?”

इससे पहले टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने ट्विटर पर लिखा, ”मोहम्मद शमी पर ऑनलाइन अ”टै”क काफी हैरान करने वाले है, हम उनके साथ खड़े हैं। वह एक चैंपियन हैं और हर वह खिलाड़ी जो भारतीय कैप को पहनता है उसके दिल में ऑनलाइन भीड़ से कहीं ज्यादा इंडिया बसता है। तुम्हारे साथ हूं शमी। अगले मैच में दिखा दूं जलवा।”

बता दें कि मोहम्मद शमी का प्रदर्शन पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में गेंद से अच्छा नहीं रहा था और उन्होंने अपने 3.5 ओवर में बिना कोई विकेट चटकाए 43 रन लुटाए थे। हालांकि, सिर्फ शमी ही नहीं, बल्कि टीम इंडिया के अन्य बॉलर्स की भी बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने जमकर रेल बनाई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.