दो लड़कों को एक-दूसरे से हुआ प्यार, जेंडर चेंज कर रचा ली शादी, अब दर-दर भटक रहा रवि से रिया

पंजाब के अमृतसर में एक लड़का अपने दोस्त से शादी करने के लिए लड़की बन गया. लेकिन जिसके लिए उसने इतना बड़ा कदम उठाया, उस शख्स ने ही उसे अपनाने से इनकार कर दिया.पंजाब में धोखाधड़ी का एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है.

यहां एक लड़के पर अपने दोस्त का जेंडर बदलवाकर उससे शादी करने और उसके बाद उसे ना अपनाने का आरोप लगाया है. लड़के से लड़की बन चुके शख्स ने अपने दोस्त के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है. अब पुलिस मामले की जांच कर रही है.

हैरान कर देने वाला यह मामला पंजाब के अमृतसर का है. पहले रवि और अब रिया बन चुके शख्स ने आरोप लगाया है कि उसके साथ धोखा कर उसका जेंडर बदलवा दिया गया है. रिया ने पुलिस को बताया कि 3 साल पहले तक उसकी पहचान रवि के तौर पर थी. वह जागरण में काम किया करता था. इस दौरान उसकी मुलाकात अर्जुन से हुई.

अर्जुन और रवि के बीच हुई मुलाकात धीरे-धीरे गहरी दोस्ती में तब्दील हो गई. यह दोस्ती आगे जाकर प्यार में तब्दील हो गई और दोनों रिलेशन में आ गए. रवि का दावा है कि अर्जुन ने उसके सामने शादी का प्रस्ताव रखा. लेकिन विवाह से पहले उसने एक शर्त रख दी. अर्जुन ने रवि से कहा कि शादी के लिए उसे लड़के से लड़की बनना होगा. इसके बाद ही वह उससे शादी करेगा. इस बात पर राजी होकर रवि से जेंडर चेंज करा लिया और रिया बन गया.

रिया का दावा, अर्जुन के परिवार ने भी स्वीकार किया:रिया का कहना है कि पहले उसका नाम रवि था, लेकिन जेंडर बदलवाकर अर्जुन ने उसका नाम रिया जट्टी रख दिया. अर्जुन जालंधर जिले के जंडियाला का रहने वाला है. रिया का दावा है कि जेंडर चेंज कराने के बाद दोनों ने शादी कर ली थी. अर्जुन के परिवार वालों ने रवि को रिया के रूप में स्वीकार कर लिया था, लेकिन कुछ दिनों बाद अर्जुन ने उसे छोड़ दिया. रिया का आरोप है कि अर्जुन उसे किन्नरों के हवाले करना चाहता है. उसने पुलिस से उसे इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई है. रिया का कहना है कि वह अर्जुन के साथ रहना चाहती है. उसने अर्जुन पर जिंदगी खराब करने का आरोप भी लगाया है.

इस मामले में इंस्पेक्टर जसबीर सिंह का कहना है कि उन्हें शिकायत मिली है रवि ने अपना जेंडर बदल लिया है. वह इस मामले में जांच कर रहे हैं, मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ करवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.