‘मैं चीखता रहा, लेकिन पति ने रितिका को मा’र डाला’, बॉयफ्रेंड ने बताई गर्लफ्रेंड के म’र्डर की खौ’फनाक कहानी

आगरा के रितिका म’र्ड’र केस में बॉयफ्रेंड ने बताया कि कैसे युवती मौ’त से बचने के लिए देर तक संघर्ष करती रही. दरअसल, बॉयफ्रेंड के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही रितिका सिंह की पति ने बहनों संग मिलकर ह’त्या कर दी थी. फूड और फैशन ब्लॉगर रितिका सिंह पति से अनबन के बाद फेसबुक फ्रेंड विपुल अग्रवाल के साथ शहर के ओम श्री प्लेटिनम अपार्टमेंट में रह रही थी. पति को उसकी लंबे समय से तलाश थी.

पु”लिस को विपुल ने बताया कि उसे आकाश गौतम ने हाथ बांधकर बाथ’रूम में बंद कर दिया था. वह ची’खता रहा, लेकिन किसी ने भी उसकी चीख नहीं सुनी. फिर आकाश ने अपने साथियों की मदद से पत्नी रितिका के भी हाथ बांध दिए और चौथी मंजिल से नीचे फें’क दिया. जैसे ही रितिका गिरी तो अपार्टमेंट के लोग बाहर इकट्ठा हो गए.

फ्लैट में बिखरा पड़ा सामान, मिला बालों का गुच्छा:

लोगों ने शोर मचाया तो गार्ड ने गेट बंद कर दिया. शव पड़ा मिला तो वहां मौजूद लोगों ने भागते हुए आकाश और उसकी महिला साथियों को भी पकड़ लिया. जबकि दो लोग फरार हो गए. अपार्टमेंट के लोग फ्लैट में पहुंचे तो विपुल बा’थरूम में बं’द मिला. उसे बाहर निकाला गया. पु’लिस को फौरन सूचना दी गई. मौके पर पहुंचकर पु’लिस ने घटनास्थल का जायजा लिया.

पु’लिस ने आ’रोपी पति आकाश गौतम और दो महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया. बाकी दो की तलाश जारी है. पुलिस ने फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम को मौके पर बुलाया. उन्हें फ्लैट में सामान बिखरा पड़ा मिला. वहां बालों का गुच्छा भी मिला, जिसे जांच के लिए टीम ने रख लिया है.

महिलाओं से करवाई एंट्री:

आकाश गौतम के साथ चार अन्य लोग भी थे, जिनमें से दो महिलाएं थीं. सुबह 10 बजकर 36 मिनट पर अपार्टमेंट के गेट से आकाश ने पहले अपने साथ आई दो महिलाओं से एंट्री करवाई, ताकि किसी को शक न हो. सीसीटीवी फुटेज से इस बात का पता चला है.

वहीं, फर्जी नाम बताकर आरोपियों ने फ्लैट नंबर 601 में जाने की बात लिखी, जबकि जाना उन्हें 404 नंबर के फ्लैट में था. आरोपियों ने ऐसा इसलिए किया, ताकि गार्ड को उनकी सही जानकारी न मिल सके. मतलब उन्हें पहले से ही रितिका और उसके प्रेमी विपुल के फ्लैट की जानकारी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.