समीर वानखेड़े मुसलमान हैं? पत्नी क्रांति रेडकर ने ट्वीट कर साफ कर दिया

नार,को,टि,क्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक के ह,मले और तीखे हो गए हैं. बीते हफ्ते नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर सेलिब्रिटीज से व,सूली करने का आरोप लगाया था. अब उन्होंने समीर के मुसलमान होने और इसके सबूत पेश करने का दावा किया है. नवाब मलिक ने दावा कर कहा है कि समीर दलित नहीं मुस्लिम हैं, उन्होंने आरक्षण कोटा में फर्जीवाड़ा कर IRS में नौकरी पाई.

बर्थ सर्टिफिकेट पेश किया:-दरअसल नवाब मलिक ने एक जन्म प्रमाण पत्र जारी किया है. कहा है कि ये समीर वानखेड़े का बर्थ सर्टिफिकेट है. इसमें उनके पिता का नाम दाऊद के वानखेड़े और मां का नाम ज़ाहिदा बानो लिखा हुआ है. इस सर्टिफिकेट की तस्वीर शेयर करते हुए  नवाब मलिक ने लिखा है-

Sameer Dawood Wankhede का यहीं से शुरू हुआ फ,र्जी,वाड़ा… “समीर वानखेड़े एक फर्जी व्यक्ति है. इसका जन्म प्रमाण पत्र समीर दाऊद वानखेड़े का है. इसने जन्म प्रमाण पत्र में छेड़छाड़ की और उनके पिताजी ने धर्मांतरण करने के बाद जो नाम बदला था उसे दुरुस्त किया. इसी आधार पर उसने अपना जाति प्रमाण पत्र निकाला.”

इससे पहले नवाब मलिक ने वानखेड़े पर फिल्मी जगत को टा,र्गेट करने का आरोप लगाया था. NCP  के नेता ने समीर की दो पत्नी होने का भी दावा किया है.

आरोपों पर क्या बोले समीर वानखेड़े?:-नवाब मलिक की तरफ से लगातार आरोप लगने पर समीर वानखेड़े ने बयान जारी किया है. इसमें उन्होंने कहा है,“महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने कुछ दस्तावेज प्रकाशित किए हैं. उन्होंने मुझे “समीर दाऊद वानखेड़े” बताया है. मैं बताना चाहता हूं कि मेरे पिता ज्ञानदेव कचरूजी वानखेड़े हिंदू थे. मेरी मां जाहिदा एक मुस्लिम थीं. मैं सच्ची भारतीय परंपरा और एक सेक्यूलर परिवार से ताल्लुक रखता हूं. मुझे अपनी विरासत पर गर्व है.”

बयान में वानखेड़े ने अपनी शादीशुदा जिंदगी को लेकर सफाई रखी. उन्होंने कहा,-“मैंने 2006 में डॉ. शबाना कुरैशी से एक सिविल कोर्ट में शादी की थी. 2016 में हम दोनों का तलाक हो चुका है. 2017 में मैंने क्रांति दीनानाथ रेडकर से शादी की.”

बयान में एनसीबी के जोनल डायरेक्टर ने नवाब मलिक पर आरोप लगाया कि वे उनकी और उनके परिवार की निजता पर हमला कर रहे हैं. समीर ने कहा,:-“ट्विटर पर मेरे निजी दस्तावेज़ों का प्रकाशन मेरे परिवार की निजता पर हमला है. इसका उद्देश्य मुझे और मेरे परिवार को बदनाम करना है. माननीय मंत्री के इन निजी हमलों ने मुझे और मेरे परिवार को जबर्दस्त मानसिक और भावनात्मक दबाव में डाल दिया है. मैं इससे आहत हूं.”

समीर वानखेड़े के बाद उनकी पत्नी और अभिनेत्री क्रांति रेडकर ने भी ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने लिखा है,:-“मैं और मेरे पति समीर हिंदू पैदा हुए. हमने कभी भी दूसरा धर्म नहीं अपनाया. हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं. समीर के पिता भी हिंदू हैं. उन्होंने मेरी मुस्लिम मां से शादी की. वो अब इस दुनिया में नहीं हैं. समीर की पिछली शादी स्पेशल मैरिज ऐक्ट के तहत हुई थी. 2016 में उनका तलाक हो गया. हमने 2017 में हिंदू विवाह किया था.”

पत्नी क्रांति रेडकर के अलावा समीर वानखेड़े के पिता ने भी अपनी पहचान साफ की है. आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा है कि उनका नाम ‘दाऊद’ वानखेड़े नहीं, ज्ञानदेव वानखेड़े है. उन्होंने अपने नाम के साथ दाऊद लगाने वाले दावे को झूठा करार दिया है.

आजतक से जुड़े दिव्येश सिंह और पंकज खेलकर की रिपोर्ट के मुताबिक, दरअसल समीर के ताऊ ने कहा था कि ज्ञानदेव वानखेड़े जिस इलाके में रहते थे, वो मुस्लिम बहुल है. और वहां के लोग उन्हें दाऊद कहकर पुकारते थे. इसी पर ज्ञानदेव का जवाब आया. उन्होंने कहा कि दाऊद नाम से उनका कोई संबंध नहीं है.

बता दें कि मुंबई क्रूज ड्र’ग के’स के एक गवाह ने दावा किया था कि समीर वानखेड़े के वाशिम जिला स्थित पैतृक गांव में लोग उनके पिता को दाऊद कहकर बुलाते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.