सारा अली खान के केदरनाथ मंदिर जाने पर भड़के फैंस ने जमकर किया ट्रोल VIDEO

सोशल मीडिया पर आप गुम्मा फेंक के मारेंगे तो 99.9% चांस है कि वो किसी इजीली ऑफेंड होने वाले को लगेगा.ऐसी ही एक खबर सोशल मीडिया से आई है. जहां सारा अली खान को एक बार फ़िर ट्रोल किया जा रहा है. सारा उन स्टार्स में से हैं, जिन्हें अक्सर ट्रोल्स अपना निशाना बनाए रखते हैं. कभी राजनीतिक कारणों से, कभी धार्मिक कारणों से, कभी निजी कारणों से.

इस बार सारा के ट्रोल होने का कारण क्या है आपको बतलाते हैं.कुछ ही दिनों पहले सारा अली खान अपनी दोस्त एक्टर जाह्नवी कपूर के साथ केदरनाथ गई थीं. वहां उन्होंने मंदिर के दर्शन वगैरह किए. सारा और जाह्नवी दोनों ने ही वहां की कई तस्वीरें अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड की.

इन तस्वीरों में से कुछ तस्वीरों में सारा और जाह्नवी माथे पर टीका लगाए हुए थीं. अब जाह्नवी कपूर को तो इन तस्वीरों पर सिर्फ लाइक्स ही आए लेकिन सारा की टीके वाली तस्वीरों ने कुछ ट्रोल करने वाले कीटों को ट्यूबलाइट की तरह खींच लिया. बस उसके बाद क्या ‘सेम ओल्ड शशश’. लोग उन्हें मज़हब, धर्म, हिंदू, मुसलमान ये सब बताने लगे.

  1. कुछ ने कहा उन्हें अपने नाम से खान हटा देना चाहिए तो कुछ ने उन्हें रिलीजियस ज्ञान दिया.सारा के साथ ऐसा सलूक देख ट्विटर पर लोग सारा के समर्थन में भी आए. पत्रकार नरेंद्र नाथ मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा,

अब कट्टरता की शिकार सारा अली खान हो रही है। अगर उसने पूजा कर ली या मंदिर के दर्शन कर ही लिए, तो कट्टर मुस्लिमों को क्यों इससे एतराज़? क्यों उसे निशाने पर लिया जा रहा? धर्म अगर निजी आस्था है तो यह सभी के लिए समान रूप से लागू.

जहां एक तरफ़ कुछ लोग धार्मिक कट्टरता के ख़िलाफ़ सारा के समर्थन में नज़र आए तो वहीं बीजेपी कार्यकर्ता कपिल मिश्रा ने सारा के समर्थन और कट्टरता के ख़िलाफ़ बात भी रखी तो कट्टर स्वर में. उन्होंने लिखा,

वो सारा अली खान से नफ़रत नहीं करते हैं. वो इस बात से नफ़रत करते हैं कि सारा हिंदुओं से नफ़रत नहीं करती है.
कपिल मिश्रा का ट्वीट

ये पहली बार नहीं है जब सारा को इस तरीके की नसीहतें दी जा रही हैं. सारा अली खान हर साल गणेश चतुर्थी में जब गणपति बप्पा के साथ तस्वीरें डालती हैं, तब भी लोग उन्हें इसी तरीके से ट्रोल करते हैं. अब हम क्या कहें…. छुटपुट सी बातों में जलने लगी है, बचा लो ये दुनिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.