क्रिकेटर मोहम्मद शमी ने रचा इतिहास, तोड़ दिया 38 साल पुराना रिकॉर्ड

साउथैम्पटन के द एजेस बाउल मैदान पर जारी भारत-न्यूजीलैंड आईसीसी विश्व चैंपियनशिप फाइनल में भारतीय गेंदबाज मोहम्मद शमी ने एक नया रिकॉर्ड बना डाला। मैच की पहली पारी में बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम 249 रन पर ढेर हुई और इसमें सबसे बड़ा योगदान मोहम्मद शमी का रहा जिसके साथ ही इस भारतीय पेसर ने 38 साल पुराने एक भारतीय रिकॉर्ड को ध्वस्त करते हुए नया इतिहास रच दिया है।

बारिश से प्रभावित विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के पांचवें दिन भारतीय गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों की जमकर परीक्षा ली। बहुत संघर्ष करते हुए कीवी टीम ऑलआउट होने से पहले 249 रन बना सकी।

इस दौरान भारत की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज मोहम्मद शमी रहे जिन्होंने 26 ओवर करते हुए 76 रन देकर 4 विकेट झटके। वहीं, उनके अलावा इशांत शर्मा ने 3 विकेट, रविचंद्रन अश्विन ने 2 विकेट और रविंद्र जडेजा ने 1 विकेट हासिल किया।

मोहम्मद शमी ने 76 रन लुटाते हुए 4 विकेट झटके जिसके साथ ही उन्होंने मोहिंदर अमरनाथ का 38 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ डाला। ये आंकड़ा है किसी भी आईसीसी चैंपियनशिप के फाइनल में भारतीय गेंदबाज द्वारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन का रिकॉर्ड।

पूर्व महान ऑलराउंडर मोहिंदर अमरनाथ ने क्रिकेट विश्व कप 1983 के फाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर 3 विकेट झटके थे। शमी ने अब वो रिकॉर्ड तोड़ डाला है।

अपने टेस्ट करियर का 51वां मैच खेल रहे टीम इंडिया के 30 वर्षीय पेसर मोहम्मद शमी ने अब तक टेस्ट क्रिकेट में 184 विकेट झटके हैं। टेस्ट क्रिकेट की एक पारी में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 56 रन देकर 6 विकेट रहा है। जबकि एक टेस्ट मैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 118 रन देकर 9 विकेट रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published.