सोनू सूद पर पप्पू यादव का बड़ा आरोप, बोले, ‘कम से कम बच्चे से फरेब न करें’…

पिछले दिनों बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से हाथ जोड़कर अपनी पढ़ाई का बंदोबस्त कराने की अपील करते एक बच्चे सोनू का वीडियो वायरल हुआ था. इसके बाद एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने 18 मई की शाम को ट्वीट कर बिहार के वायरल बच्चे सोनू की पूरी शिक्षा और हॉस्टल की व्यवस्था कराने की जानकारी दी थी. अब इस मामले में नया मोड़ आया है. बिहार की जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने बच्चे की पढ़ाई के इंतजाम को लेकर सोनू सूद पर चौंकाने वाला आरोप लगाया है.

पप्पू यादव ने ट्विटर पर बच्चे सोनू को गोद में लेकर एक फोटो शेयर की है. इसमें उन्होंने लिखा,

सोनू सूद कम-से-कम इस बच्चे के साथ फरेब न करें! सोनू सूद ऐसे स्कूल में सोनू के एडमिशन की घोषणा कर लहर लूट रहे थे, जो न CBSE एफिलिएटेड है, न कोई वेबसाइट है. मात्र आठवीं तक वहां पढ़ाई होती है. वो अभिनेता होकर नेता की तरह ठग रहे हैं.  सोनू सूद जी आप अपने बच्चे का यहां नामांकन कराते?

 

हालांकि सोनू सूद ने भी ट्वीट में बताया था कि सोनू की शिक्षा की व्यवस्था पटना जिले के बिहटा (Bihta) के आइडियल इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल (Ideal International Public School) में की गई है. पप्पू यादव ने इसी स्कूल को लेकर अभिनेता पर सवाल उठाया है.

पप्पू यादव के आरोप को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रियाएं भी आ रही हैं. कुछ लोग सोनू सूद को ट्रोल कर रहे हैं तो कुछ उनका बचाव भी कर रहे हैं. कृष्णा नाम के ट्विटर यूजर ने पूरे मामले को पब्लिसिटी स्टंट बता दिया. उन्होंने लिखा,

“बिना किसी मतलब के कोई कुछ नहीं करता, बाकी सब एक पब्लिसिटी स्टंट होता है बस.”

रौनक बसिष्ठ नाम के यूजर ने लिखा,

“शुरुआत तो की. वरना कौन पूछता है गरीबों को. इस लड़के का भला इसलिए हो गया क्योंकि इसने हिम्मत दिखाई. मगर इसके जैसे करोड़ों बच्चे अपने भाग्य के जागने का इंतजार कर रहे हैं. मगर उनके नसीब में कोई सोनू सूद या पप्पू यादव नहीं है. व्यवस्था और भ्रष्टाचार से जंग करनी होगी वरना यही हाल रहेगा.”

डॉ. प्रभात के शर्मा ने पप्पू यादव पर तंज कसा. उन्होंने लिखा,

“सोनू सूद को जवाब तो तब मिले जब आप इस बच्चे का एडमिशन अमेरिका में करवा दें.”

डॉ. रमाकान्त राय नाम के यूजर ने भी सोनू सूद का बचाव किया. उन्होंने लिखा,

“सोनू सूद के खिलाफ कोई बात स्वीकार्य नहीं. वो मसीहा है.”

छठवीं क्लास में पढ़ने वाले 11 साल के सोनू ने बीती 14 मई को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपनी पढ़ाई की गुहार लगाई थी. उसने बताया था कि वो पढ़ना चाहता है, लेकिन उसके माता-पिता उसे पढ़ाना नहीं चाहते. पिता दही बेचकर शराब पी जाते हैं. फीस नहीं भर पाने के कारण स्कूल से उसका नाम काट दिया गया था. इसके बाद आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने भी सोनू से वीडियो कॉल पर बात की थी. बाद में सोनू सूद ने बच्चे की पढ़ाई की व्यवस्था करने की जानकारी दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.