The Kashmir Files पर सनी देओल का आया बड़ा बयान, कह डाली बड़ी बात!

निर्देशक विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri) की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स'(The Kashmir Files) को भारत में दर्शकों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है। दर्शक इस फिल्म को खूब पसंद कर रहे हैं और फिल्म को माउथ पब्लिसिटी का तगड़ा फायदा मिल रहा है। हालांकि फिल्म को कुछ लोगों द्वारा विरोध भी किया जा रहा है। इन सब पर अभिनेता और सांसद सनी देओल ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

बॉलीवुड एक्टर-एक्ट्रेस भी इस पर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक्टर सनी देओल का भी ट्वीट आया है, जिसमें उन्होंने इस फिल्म की तारीफ की है। सनी देओल ने कहा,”इस फिल्म की असाधारण सफलता के लिए मेरे दोस्त अनुपम खेर और विवेक अग्निहोत्री को बधाई, मैं इसे लेकर बहुत अच्छी बातें सुन रहा हूं और कोशिश करूंगा कि शूटिंग से समय निकाल कर जल्द ही इसे देखूं।”

विवेक अग्निहोत्री द्वारा लिखित व निर्देशित द कश्मीर फाइल्स में 1990 के दशक में कश्मीर घाटी से कश्मीरी हिंदुओं के पलायन को दर्शाया गया है।विवेक अग्निहोत्री ने दावा किया कि द कश्मीर फाइल्स देश के हर वर्ग को जोड़ रही है। इस फिल्म ने फिल्मों को हिट बनाने के पुराने ढर्रे को तोड़ दिया है और इसने मनोरंजन जगत की अर्थव्यवस्था को नए रास्ते दिखाए हैं।

फिल्म ‘द कश्मीर फाइल’ की सोशल मीडिया पर बड़ी चर्चा हो रही है। सनी देओल ने यह ट्वीट आधी रात को किया। फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री की तारीफ करने के बावजूद सनी देओल सोशल मीडिया यूजर्स के नि,शाने पर आ गए। सोशल मीडिया यूजर्स ने उन्हें देर से ध्यान देने के लिए ल,क्षित किया। कुछ यूजर्स ने कहा कि, इस फिल्म को रिलीज हुए हफ्ताभर हो गया है और सनी देओल ने अब इस पर बात की। वहीं, एक यूजर ने कहा कि, सनी देओल आखिर कहां बिजी हैं?

बहरहाल कई राज्यों में में टैक्स फ्री हो चुकी है यह फिल्म! उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, मध्य प्रदेश, गोवा, कर्नाटक, हरियाणा आदि राज्यों में टैक्स फ्री की जा चुकी है।

 

 

 

 

,,,,
कश्मीरी हिंदुओं का पलायन
न्यूजीलैंड के एक समाचार संस्थान ने शनिवार को खबर दी कि 24 मार्च को रिलीज होने जा रही फिल्म को लेकर मुस्लिम समुदाय ने चिंता जाहिर की हैं, जिसके बाद देश के सेंसर प्रमुख डेविड शैंक्स फिल्म के आर16 सर्टीफिकेट की समीक्षा कर रहे हैं। न्यूजीलैंड के वर्गीकरण कार्यालय के अनुसार आर16 प्रमाण पत्र के तहत यह अनिवार्य होता है कि 16 साल के कम आयु के बच्चे किसी व्यस्क की निगरानी के बिना फिल्म नहीं देख सकते।

फिल्म ने आंखें खोल दी
द कश्मीर फाइल्स फिल्म में आधा सच दिखाए जाने के शिवसेना के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर अग्निहोत्री ने सीधा जवाब नहीं देते हुए कहा, ‘आधा सच के बारे में बोलने का हक उसी को है जो पूरा सच जानता हो। ऐसा नहीं है कि यह फिल्म विवाद की वजह से चल रही है। मैंने जिस मकसद से फिल्म बनाई वह पूरा हो रहा है। जो लोग कश्मीरी पंडितों के संहार की बात नहीं मानते थे, इस फिल्म ने उनकी आंखें खोल दी हैं।’

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.