UPSC 2021: सुल्तानपुर की बेटी अरीबा नोमान का सिविल सर्विसेज में हुआ चयन, मुस्लिम छात्रों में पहले स्थान पर रहीं अरीबा नोमान

अरीबा नोमान ने 109वीं रैंक हासिल करके मुस्लिम छात्रों में पहले नंबर पर जगह बनाई है. साल यूपीएससी परीक्षा में कुल 685 छात्रों का सलेक्शन हुआ है जिसमें से 24 मुस्लिम छात्र हैं.संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) 2021 के परिणाम इस बार देश की बेटियों के लिए बेहद खास रहे हैं.

UPSC Success Stories:जहां टॉप थ्री रैंक में लड़कियां शामिल हैं तो वहीं इस परीक्षा में मुस्लिम छात्रों में पहला स्थान हासिल करने वाली एक छात्रा अरीबा नोमान (Areeba Noman) हैं. उन्होंने 109वीं रैंक हासिल करने के बावजूद सभी मुस्लिम छात्रों में पहले नंबर पर जगह बनाई है. इस साल UPSC परीक्षा में कुल 685 छात्रों का सलेक्शन हुआ है जिसमें से 24 मुस्लिम छात्र हैं. इन छात्रों में ऑल ओवर इंडिया अरीबा ने 109 वीं रैंक हासिल करने के बावजूद पहला स्थान हासिल किया है.

कहां से पढ़ाई किया:उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर निवासी अरीबा ने एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि, उनकी दसवीं तक की स्कूली पढ़ाई उत्तर प्रदेश से ही हुई है, जबकि 11वीं और 12वीं की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली से की. इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से उन्होंने कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग की पढ़ाई की. अरीबा ने साल 2018 में ओल्ड राजेंद्र नगर से सिविल सर्विस के लिए तैयारी शुरू की, लेकिन वे इंटरव्यू के लिए सेलेक्ट नहीं हुईं.

फिर आईं RCA अकादमी:इसके बाद उन्होंने अपने दोस्त के कहने पर दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया की रेजिडेंशियल कोचिंग अकादमी (RCA) के लिए अप्लाई किया, जहां उन्हें सिविल सर्विसेज की तैयारी के लिए एक अच्छा माहौल मिला. उन्हें अपनी पर्सनैलिटी डिवेलप करने में काफी मदद मिली क्योंकि यहां लगातार आईएएस अधिकारियों के संपर्क में रहना और उनकी ओर से अच्छी गाइडेंस मिलती है.

तीन बार सलेक्शन नहीं हुआ:अरीबा ने बताया कि साल 2018 में उन्होंने 6 महीने की तैयारी के बाद पहला अटैम्पट दिया था, जिसमें उनका प्रिलिम्स चार नंबर से रह गया, जिसके बाद 2019 में उनका प्रिलिम्स क्लियर हो गया लेकिन मेंस 10 नंबर से रह गया. 2020 में भी वे मेंस क्लियर नहीं कर पायीं. उन्होंने बताया कि तैयारी के दौरान दो बार उनका मेंस नहीं हो पाया जो उनके लिए काफी निराशाजनक रहा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार कोशिश करती रहीं.

इंटरव्यू में 193 मार्क्स मिले:अरीबा ने 2021 में पूरी मेहनत के साथ इसके लिए प्रयास किया. लगातार आंसर राइटिंग प्रैक्टिस की, नोट्स बनाए और कहां कुछ गलतियां हुई हैं, उन्हें सुधारते हुए अपनी परीक्षा दी. उनका इंटरव्यू भी काफी अच्छा रहा, जिसमें उन्हें 193 मार्क्स मिले. जिसके बाद आज उन्हें UPSC परीक्षा परिणाम 2021 में 109 वीं रैंक हासिल हुई है.

कैसे मिली मदद:अरीबा ने एबीपी न्यूज को बताया कि जामिया कि आरसीए अकादमी ने UPSC की तैयारी में उनकी बेहद मदद की. यहां मेंस के लिए ऑनलाइन-ऑफलाइन क्लासेस दी जाती हैं. एक्सपर्ट्स लगातार हमारे टच में रहते हैं और सभी छात्रों के ग्रुप बनाए जाते हैं जो आपस में एक दूसरे का मॉक इंटरव्यू लेते हैं, जिससे हमें काफी प्रेक्टिस होती है और मदद मिलती है.

सोशल मीडिया से दूर रहीं अरीबा:अपनी सफलता के बारे में बताते हुए अरीबा ने कहा कि UPSC की तैयारी के दौरान उन्होंने सोशल मीडिया से भी दूरी बनाई थी, हालांकि वह पूरी तरीके से उससे कटी नहीं थीं, बीच-बीच में अपडेट के लिए वे सोशल मीडिया का इस्तेमाल करती थीं लेकिन पूरी तरीके से वह सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं कर रही थीं क्योंकि पढ़ाई के लिए भी काफी घंटे उन्हें देने पड़ते थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.