रमज़ान के पवित्र महीने मे अज़ान की आवाज़ सुनकर एक युक्रेनी महिला ने अपनाया इस्लाम, कहा अज़ान सुनकर मिलता है दिल को सुकून, और कहा…

भारत मे जहाँ एक तरफ अज़ान को लेकर बवाल मचा हुआ है, अज़ान से किसी के नींद मे खलल पैदा हो रहा है तो किसी की भावनाएं आहत हो रही हैं लेकिन एक खबर ऐसी आई है जहाँ अज़ान सुनकर एक लड़की ने इस्लाम ही कुबूल कर लिया।

तुर्की की यात्रा के दौरान एक यूक्रेनी महिला ने रमजान के पवित्र माह में अज़ान की आवाज़ से प्रभावित होकर इस्लाम क़ुबूल कर लिया और बकायदा इस्लाम के रास्ते पर चलने की भी वादा किया।

एक टर्किश पोर्टल Haberler के अनुसार यूक्रेनी महिला पर्यटक डारिया यारोशेंको अपने पति के साथ उत्तर पश्चिमी बर्सा प्रांत के ऐतिहासिक इज़निक जिले की यात्रा के दौरान एक रेस्टॉरेंट में भोजन कर रही थी, उसी दौरान उन्हें हागिया सोफिया मस्जिद से अज़ान की आवाज़ सुनाई दी और वो आवाज़ उन्हे इतना पसंद आया कि उनसे रहा नही गया वो तबतक सुनती रही जबतक आजान होता रहा।

आपको बता दें कि डारिया यारोशेंको अपने पति के साथ उस मस्जिद में गई और मुअज्जिन उस्मान अकमक से मुलाकात की जिन्होंने अज़ान दी थी। और उनसे कहा कि वह अज़ान सुनने के बाद इस्लाम क़ुबूल करना चाहती हैं, यारोशेंको ने गुरुवार 7 अप्रेल को अनादोलु एजेंसी, Anadolu Agency (AA) को बताया कि वह मुअज़्ज़िन की आवाज़ से बहुत प्रभावित थी। इसलिए वो इस्लाम कुबूल करना चाहती हैं।

खास बात यह है कि इस्लाम कुबूल करने के बाद डारिया यारोशेंको ने कहा “अज़ान की आवाज़ सुनकर मुझे ऐसा लगा कि मेरे अंदर कुछ कांप रहा है, मुझे रूहानी सुकून सा महसूस हुआ। मैंने इंटरनेट पर क़ुरआन की खोज की और फिर मैंने स्वेच्छा से मुस्लिम बनने का फैसला किया, और इस्लामी तरीके को फॉलो करना अब हम पूरी कोशिश करेंगे”

डारिया को इस्लाम कुबूल करवाने वाले मुफ्ती ज़ेईर यवास ने बताया, “रमजान के पवित्र महीने में हुई इस अद्भुत घटना से हम बेहद खुश हैं।” उन्होंने कहा कि उन्होंने यारोशेंको को उपहार के तौर पर क़ुरआन भी भेंट किया है।”

मुफ्ती साहब ने आगे ये भी कहा कि हम अपनी बहन, उसके पति और हमारे मुअज्जिन को बधाई देते हैं जिनकी अज़ान से गैर मुस्लिम इतने प्रभावित हुए। बेहतरीन ढंग से दी गई अज़ान इस तरह की अद्भुत घटनाओं को जन्म दे सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.